Garbh girane ke gharelu upay |1 से 2 महीने का गर्भ गिराने के 10 सबसे आसान घरेलु उपाय - Helpless Minority

Garbh girane ke gharelu upay |1 से 2 महीने का गर्भ गिराने के 10 सबसे आसान घरेलु उपाय

garbh-girane-ke-gharelu-upay

Garbh girane ke gharelu upay  | 1 से 2 महीने का गर्भ गिराने के 10 सबसे आसान घरेलु उपाय, Best 10 ways of abortion

1. गर्भपात के लिए बबूल के पत्ते का उपयोग करे ( Garbh Girane ke Gharelu Upay ) 

अगर आपकी प्रेगनेंसी एक महीने से डेढ़ महीने तक की है तो उसके लिए आप बबूल के पत्तों का इस्तेमाल कर सकता है। इसके लिए 8 से 10 बबूल के पत्ते लें और उन्हें एक ग्लास पानी में डाल कर उबाल लें। पत्तों को तब तक उबालें जब तक पानी आधा गिलास न रह जाए। अब इस पानी को ब्लीडिंग शुरू होने तक दिन में 4 से 5 बार पियें ऐसा करने से गर्भ अपने आप गिर जाएगा। क्योकि ये पत्ते बहुत गर्म होते हे। और गर्भ की अवस्था में अगर आप गर्म चीजों का उयोग करते हो तो गर्भपात होने के पुरे पुरे लक्षण रहते हे.

2.गर्भपात के लिए विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ का उपयोग करे ( Garbh Girane ke Gharelu Upay )

विटामिन सी खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करने से भी गर्भपात हो जाता हे. इसलिए डॉक्टर गर्भवती महिलाओं को विटामिन सी का सेवन न करने की सलाह दी जाती है। अगर आपकी प्रेगनेंसी अभी अभी शुरू हुई है तो आपको विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन कर सकते हे। इसके लिए आप कटहल, पपीता, कच्चा पपीता, संतरा, अनानास आदि का सेवन कर सकती है।

3. गर्भपात के लिए भुने हुए तिल का उपयोग करे

आप गर्भपात करने के लिए तिल का उपयोग भी कर सकते हे. तिल की तासीर बहुत अधिक गर्म होती है और अनचाहे गर्भ से निजात पाने के लिए गर्म चीजों का सेवन करना जरुरी होता हे. इसलिए गर्भपात के लिए आप तिल का इस्तेमाल कर सकते है। इसके लिए थोड़े से तिल भुन लें और उसमे दो से तीन चम्मच दिन में ३-4 बार सेवन करें।

4. गर्भपात के लिए भागदौड़ और व्यायाम का उपयोग करे ( Garbh Girane ke Gharelu Upay )

यदि आप गर्भपात करना चाहते हे तो आप गर्भ के शुरवाती दिनों में यदि अधिक से अधिक भाग दौड़ और वयायाम करते हे तो उससे भी गर्भपात हो सकता हे। अक्सर गर्भवती औरत को गर्भ होने पर आराम और काम काम करने की सलाह दी जाती हे उसका कारन यही हे की जिससे प्रेगनेंसी में कोई दिक्कत न आये। इसके लिए आप सीढियाँ चढ़ना, भारी सामान उठाना, पेट के बल काम करना आदि जैसी गतिविधियाँ कर सकती है। ये आपका गर्भपात कराने में मदद कर सकती है।

5. गर्भपात के लिए सोयाबीन का उपयोग करे

सोयाबीन में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जो गर्भ ठहरने नहीं देते। इसके लिए रात के समय में थोड़े से सोयाबीन के दानें पानी में भिगोकर रख दें। सुबह जागकर खाली पेट इन्हें चबाकर खाएं। इससे गर्भपात के होने की संभावना बढ़ जाएगी।

6. गर्भपात के लिए सीताफल के बीज का उपयोग करे

इन बीजों का सेवन करने से भी गर्भ से निजात पाने में मदद मिलती है। इसके लिए सीताफल के बीजों को पीसकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को प्राइवेट पार्ट में लगाएं। ऐसा तब तक करें जब तक ब्लीडिंग न हो जाए।

7. गर्भपात के लिए Aspirin का उपयोग करे

Aspirin की गोलिया भी गर्भ गिराने में आपकी मदद कर सकती है। इसके लिए रोजाना 4 से 10 एस्पिरिन की गोलियां खाएं। उपाय के बेहतर परिणामों के लिए एस्पिरिन के साथ लौंग, काफी, पार्सले, अदरक और अंजीर का सेवन भी करें। मासिक धर्म अपने आप आने लगेंगे।

8. गर्भपात के लिए हल्दी का उपयोग करे

हल्दी सभी के घर में आसानी से मिल जाती हे. हल्दी बहुत ही गर्म होती हे यदि आप गर्भधारण नहीं चाहती हे तो आप हल्दी का सेवन दिन में 4-5 बार एक एक चममच के रूप में कर सकती हे. इससे पुर पुरे चांस हे की गर्भ ना रहे.

9. गर्भ गिराने के अन्य उपाय 

पपीते में विटामिन सी और पेपाइन नामक एसिड पाया जाता है जजों प्राकृतिक तरीके से गर्भपात करवाता है।
अनानास का सेवन करने से भी गर्भपात आसानी से हो जाता है।
नियमति रूप से गर्म पानी से नहाने से भी गर्भ गिर जाता है।
ग्रीन टी के अत्यधिक सेवन से फर्टिलिटी से संबंधित समस्याएं होने लगती है जिससे गर्भपात भी हो सकता है।
किसी भी तरह की चीज़ का सेवन करने से अनचाहा गर्भ नहीं ठहरता। क्योंकि इन्हें बिना उबले दूध से बनाया जाता है।
अनार को उसके बीजों के साथ खाने से भी मिसकैरेज के चांसेस बढ़ जाते है।

10. दो महीने का गर्भ गिराने के तरीके

अगर आपका गर्भ 2 महीने तक है तो इस स्थिति में आपको डॉक्टर से सलाह लेनी होगी। वैसे तो इसके लिए बहुत सी दवाएं मार्केट में मौजूद है लेकिन बिना सलाह के इनका इस्तेमाल करना हानिकारक हो सकता है।

इसके अलावा ब्लीडिंग होने के बाद भी डॉक्टर से जाँच जरुर करवानी चाहिए। ताकि भविष्य में किसी तरह की कोई परेशानी न हो।

तीन माह का गर्भ गिराने के तरीके 

इस स्थिति में केवल डॉक्टरी सलाह से ही गर्भपात करवाना चाहिए, क्योंकि इस स्टेज पर आकर घरेलू उपाय से गर्भपात करना ठीक नहीं। क्योंकि इस समय तक बच्चा थोडा विकसित हो चुका होता है, ऐसे में गलत तरीकों का इस्तेमाल करके गर्भपात करना मुश्किलों का कारण बन सकता है। इसलिए इस समय में डॉक्टर से सलाह लेकर सही तरीके से ही गर्भपात कराएं।

तो ये थे कुछ उपाय जिनकी मदद से एक से तीन महीने का गर्भपात किया जा सकता है। लेकिन इनके इस्तेमाल के समय एक बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की अगर आप बार-बार गर्भपात करवा रही है तो आगे प्रेगनेंसी में समस्या हो सकती है।

यह भी पड़े

Mifegest Kit क्या है इसे कैसे इस्तेमाल करते हे ?

How to use mifegest kit, Mifegest Kit

810 total views, 114 views today

0Shares
0 0 0