गांधी जी को बापू क्यों कहा जाता है

mahatama gandhi

महात्मा गांधी को ब्रिटिश शासन और ‘राष्ट्रपिता’ के खिलाफ भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का नेता माना जाता है। इनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गाँधी था। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था। इनके पिता का नाम करमचंद गाँधी था। मोहनदास की माता का नाम पुतलीबाई था, जो करमचंद गांधीजी की चौथी पत्नी थीं। मोहनदास अपने पिता की चौथी पत्नी की अंतिम संतान थे।

गांधी जी और परिवार

गांधी की मां पुतलीबाई अत्यधिक धार्मिक थीं। उनकी दिनचर्या घर और मन्दिर में बंटी हुई थी। वह नियमित रूप से उपवास रखती थीं और परिवार में किसी के बीमार पड़ने पर उसकी सेवा सुश्रुषा में दिन-रात एक कर देती थीं। मोहनदास का लालन-पालन वैष्णव मत में रमे परिवार में हुआ और उन पर कठिन नीतियों वाले जैन धर्म का गहरा प्रभाव पड़ा।
जिसके मुख्य सिद्धांत, अहिंसा एवं विश्व की सभी वस्तुओं को शाश्वत मानना है। इस प्रकार,उन्होंने स्वाभाविक रूप से अहिंसा, शाकाहार, आत्मशुद्धि के लिए उपवास और विभिन्न पंथों को मानने वालों के बीच परस्पर सहिष्णुता को अपनाया।

अयोध्या मामला LIVE: रामलला के वकील ने कहा मस्जिद बनाने के लिए राम मंदिर को तोड़ा गया(Temple mosque dispute)

मोदी उसी रणनीति को अपना रहे हैं जिसके साथ वह अन्य राज्यों में जीतते हैं |

6,751 total views, 58 views today

0Shares
0 0 0