12 लाख की चाय का सच, क्या चाय बेच के 12 लाख कमा सकते हैं ?

12 लाख की चाय का सच, क्या चाय बेच के 12 लाख कमा सकते हैं ?

chai wala

ये तो सब जानते है कि इस देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पीएम बनने से पहले चाय बेचने का काम करते थे. ऐसे में उनका ये काम आज भी चर्चा का विषय बना हुआ है. बरहलाल आज एक बार फिर से हम आपको एक ऐसे ही चाय वाले से रूबरू करवाना चाहते है, जो आज कल चर्चा का विषय बना हुआ है. वैसे आपको याद होगा कि देश के पीएम नरेंद्र मोदी जी खुद इस बात को कई बार दोहरा चुके है, कि आज एक चाय वाला इस पद तक पहुंचा है. यानि उनके कहने का मतलब ये है कि एक चाय वाला कुछ भी कर सकता है. बता दे कि आज कल महाराष्ट्र के पुणे में स्थित येवले टी हाउस भी काफी चर्चा में है. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर इस टी हाउस में ऐसी क्या खास बात है.

bjp

दरअसल इस टी हाउस के को फाउंडर नवनाथ येवले की महीने की इनकम बारह लाख रूपये है और यही वजह है कि आज कल हर जगह इसकी चर्चा हो रही है. यक़ीनन आप भी जानना चाहते होंगे कि आखिर एक चाय वाले की महीने की इनकम इतनी कैसे हो सकती है. तो चलिए अब आपको इसके बारे में जरा विस्तार से बताते है. अगर खबरों की माने तो नवनाथ येवले का कहना है कि चाय को ब्रांड बनाने का आईडिया उन्हें साल 2011 में आया था. जिसके तहत उन्होंने चाय पर करीब चार साल तक स्टडी की. इस दौरान उन्होंने सीखा कि कैसे अच्छी चाय बनाई जा सकती है और कैसे चाय को ब्रांड बनाया जा सकता है.

congress

बरहलाल इसका नतीजा ये हुआ कि अब पुणे में येवले टी हाउस के तीन ब्रांच है. ऐसे में हर ब्रांच में करीब बारह कर्मचारी काम करते है. बता दे कि पुणे में येवले टी हाउस काफी प्रसिद्ध है. शायद यही वजह है कि इस टी हाउस का बिज़नेस लगातार बढ़ता जा रहा है. इसके इलावा ये बाकी लोगो के लिए एक प्रेरणा भी बनता जा रहा है. जी हां यानि जो लोग अपना बिज़नेस करना चाहते है, उनके लिए ये किसी प्रेरणा से कम नहीं है. इसके साथ ही नवनाथ का कहना है कि उनका टी हाउस का कारोबार कई लोगो को रोजगार दे रहा है.

navnath

जी हां नवनाथ के टी हाउस से कई लोगो का घर चल रहा है. ऐसे में इसका बिज़नेस बढ़ने से हम लोग भी काफी खुश है. इसके बाद उन्होंने बताया कि हम तीनो ब्रांच में कुल मिला कर तीन हजार से चार हजार कप हर रोज चाय के बेच देते है. जिसके चलते हमारी महीने की इनकम आराम से बारह लाख तक हो जाती है. इसके साथ ही येवले का कहना है कि उनका टी हाउस धीरे धीरे पुणे में एक बड़ा नाम बनता जा रहा है. ऐसे में अब येवले इस कोशिश में है कि उनका चाय का ये ब्रांड इंटरनेशनल लेवल तक पहुँच जाए.

अब जाहिर सी बात है कि उनका ये ब्रांड जितना ज्यादा बढ़ेगा और जितना ज्यादा कामयाब होगा, इसके रोजगार के साधन भी उतने ज्यादा ही बढ़ेंगे. इसलिए हम तो यही दुआ करते है कि नवनाथ येवले जी का ये बिज़नेस खूब फले फूले और ऐसे ही वृद्धि करता रहे

 You May Also Like 

1,964 total views, 3 views today

0Shares
0 0 0